बिलासपुर: हर विधानसभा के मतगणना अभिकर्ताओं को जारी होंगे अलग-अलग रंग के प्रवेश पत्र… किसी दूसरी टेबल के समक्ष बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी… वीडियोग्राफी करके देंगे… इतने टेबल में डाक मतपत्र की होगी गिनती…

बिलासपुर।

  • जिला निर्वाचन कार्यालय ने बुधवार को प्रार्थना सभा भवन में मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों और अभ्यर्थियों के साथ बैठक की। इसमें जिला निर्वाचन अधिकारी पी दयानंद ने बताया कि 11 दिसंबर की सुबह 8 बजे से कोनी स्थित शासकीय इंजीनियरिंग कॉलेज के आईटी भवन में मतगणना प्रारंभ की जाएगी। सुबह 7 बजे प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिए निर्धारित स्ट्रांग रूम संबंधित प्रेक्षक के समक्ष खोले जाएंगे।
  • स्ट्रांग रूम खोलते समय संबंधित अभ्यर्थी अथवा उसका निर्वाचन अभिकर्ता उपस्थित रह सकते हैं। इसके अतिरिक्त किसी अन्य व्यक्ति को उपस्थित रहने की अनुमति नहीं दी जाएगी। सातों विधानसभाओं के लिए मतगणना कक्ष ग्राउंड फ्लोर पर बनाए गए हैं, जिनमें से विधानसभा मरवाही के लिए कक्ष क्रमांक 3, कोटा विधानसभा के लिये कक्ष क्रमांक.2, तखतपुर विधानसभा के लिये कक्ष क्रमांक.7, बिल्हा विधानसभा के लिये कक्ष क्रमांक.6, बिलासपुर विधानसभा के लिये कक्ष क्रमांक.5, बेलतरा विधानसभा के लिये कक्ष क्रमांक.4 और मस्तूरी विधानसभा के लिये कक्ष क्रमांक.1 में मतगणना का कार्य किया जाएगा।
  • सभी मतगणना कक्षों में 14-14 टेबल में मतगणना होगी। डाक मतपत्रों की गणना के लिए 2 टेबल रखी जाएंगी। सभी विधानसभाओं के लिए मतगणना एजेंटों की नियुक्ति की प्रक्रिया 7 दिसंबरकी शाम 5 बजे तक पूरी कर ली जाएगी। प्रत्येक अभ्यर्थी द्वारा अधिकतम 16 मतगणना एजेंट नियुक्त किए जा सकेंगे, जिनमें से 14 एजेंट मतगणना टेबलों पर और 2 एजेंट पोस्टल बैलेट पेपर की गणना के समय अतिरिक्त सहायक रिटर्निंग ऑफिसर के टेबल पर नियुक्त रह सकते हैं।
  • मतगणना के दौरान संबंधित मतगणना टेबल के लिए नियुक्त मतगणना अभिकर्ता उसी टेबल के समक्ष जाली के बाहर लगाए गए बेंच पर बैठेंगे। किसी दूसरी टेबल के समक्ष बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी और न ही शांति व्यवस्था भंग करने दी जाएगी। प्रत्येक विधानसभा के मतगणना अभिकर्ताओं के लिए अलग-अलग कलर के प्रवेश पत्र जारी किए जाएंगे।
  • मतगणना एजेंटों, अभ्यर्थियों और उनके निर्वाचन अभिकर्ताओं को मतगणना कक्ष तक पहुंचने के लिए अलग-अलग प्रवेश द्वार आईटी भवन के पीछे निर्धारित किए गए हैं। मतगणना केंद्र में किसी भी प्रकार का मोबाइल फोन, सेलफोन, कैमरा, कैलकुलेटर या अन्य किसी प्रकार का इलेक्ट्रानिक उपकरण ले जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी और न ही वीडियोग्राफी की अनुमति दी जाएगी।
  • संपूर्ण मतगणना प्रक्रिया की वीडियोग्राफी जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा कराई जाएगी और मतगणना के अंत में उसकी सीडी संबंधित अभ्यर्थी को उपलब्ध कराई जाएगी।

सम्बंधित ख़बरें

Leave a Comment