बिल्हा कांग्रेस: घर की कलह राजेंद्र ने कर लिया शांत… अंबालिका साहू ने नाम लिया वापस… कहा- थोड़ी नाराज थी… मेरे रग-रग में बसी है कांग्रेस… मैं अलग हो ही नहीं सकती… जानिए जिलाध्यक्ष केशरवानी ने क्या कहा… देखिए वीडियो…

बिलासपुर।

  • बगावत कर चुनाव मैदान में कूदने वाली पूर्व जिला पंचायत सदस्य अंबालिका साहू का मन अब कांग्रेस के प्रति नरम हो गया है। उन्होंने कलेक्टोरेट पहुंचकर विधानसभा चुनाव से अपना नाम वापस ले लिया है। उनका कहना है कि उनके रग-रग में कांग्रेस बसी हुई है। वह कांग्रेस से अलग हो ही नहीं सकती।
  • उन्होंने कहा कि वह 15 साल से कांग्रेस में रहकर जनता की सेवा करती रही हैं और आगे भी करती रहेंगी। इस्तीफा के बाद नाम वापसी के सवाल पर थोड़ी वह झल्ला गईं और कहा कि हर घर में झगड़ा होता है, पर उसे हमेशा लेकर नहीं चलते। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि टिकट नहीं मिलने पर वह थोड़ा नाराज हो गई थी। अब नाराजगी दूर हो गई है।
  • प्रदेश के बड़े नेताओं से उनकी बातचीत हुई है। किसी तरह के लालच में नाम वापसी के सवाल पर उन्होंने कहा कि मुझे कोई लालच नहीं दिया गया है। न ही मैं किसी लालच में नाम वापस लिया है। मैंने नि:स्वार्थ भाव से कांग्रेस प्रत्याशी राजेंद्र शुक्ला के समर्थन में मैदान छोड़ा है।
  • पूर्व जिला पंचायत सदस्य अंबालिका साहू के मान जाने से निश्चित ही कांग्रेस प्रत्याशी शुक्ला को बड़ी राहत मिली है, क्योंकि बिल्हा विधानसभा में साहू समाज से 40 हजार से अधिक वोटर हैं। प्रदेश में अभी जो चुनावी हवा चल रही है, उसके मुताबिक साहू समाज के वोटर पार्टी के बजाय समाज के प्रत्याशियों पर भरोसा करते आए हैं। 
  • इस चुनाव में भी साहू समाज ने बैठक कर समाज के प्रत्याशियों को समर्थन देने का निर्णय लिया था। अंबालिका को मना लेने से एक तरह से शुक्ला ने अपने घर को ठीक कर लिया और अब उनकी लड़ाई गैरों से है।

विजय बोले- इस्तीफा मंजूर हुआ था और न ही होगा

  • कलेक्टोरेट में मीडिया से बात करते हुए जिलाध्यक्ष ग्रामीण विजय केशरवानी ने कहा कि पूर्व जिला पंचायत सदस्य अंबालिका साहू ने अपना नाम वापस ले लिया है। टिकट नहीं मिलने हल्की नाराजगी होना लाजिमी है, पर अब सब कुछ ठीक हो गया है। कांग्रेस पार्टी ने उनका इस्तीफा न तो मंजूर किया था और न ही आगे स्वीकार करेगी।

सम्बंधित ख़बरें

Leave a Comment